चाँद शायरी हिंदी में Chand Shayari in Hindi

चाँद शायरी हिंदी में Chand Shayari in Hindi




Har roj chand raat ko nikalta hai.
Kyuki usey humse baate karni hoti hai.
Wo thak kar har roj laut jata hai.
Hum mai sai koi bhi nahi hota 
uski bate sunne keliye.
Socho poora sansaar ka chanda
 mama kitna akela hai.


हर रोज चाँद रात को निकलता है  
क्युकी उसे हम से बाते करनी होती है ।
वो थक कर हर रोज लौट जाता है ।
हम मे से कोई भि नही होता उसकी बाते सुनने के लिये ।
सोचो पूरा संसार का चन्दा मामा कितना अकेला है ।



chand ek hi to hai.
nahi ek sai jyada chand hai.
is ashiqi ki duniya mai har 
ek ashiq ka apna hi chand hai.
chand ki khoobsoorati bhi phiki 
pad jaati hai jab meri wali chat par atti hai.



चाँद एक हि तो है ।
नही एक से ज्यादा चाँद है ।
इस आशिकी कि दुनिया मे 
हर किसी का अपना हि चाँद है ।
चाँद कि खूबसूरती भि कम पड़ जाती है 
जब मेरि वाली छत पर आति है ।


chand shayari image chand raat shayari imageschand shayari image chand raat shayari images
Image for चाँद शायरी हिंदी में Chand Shayari in Hindi

By Shivam Mishra