गरीब शायरी हिंदी

गरीब शायरी हिंदी





Dil ko choo leti hai kuch tasveere.
Jaha insaaniyat jinda milti hai.

Insaaniyat to garib kai bharose jinda hai.
Amiro nai to katl kayi baar kiya hai insaaniyat ka.


दिल को छू  लेती है कुछ तस्वीरे ।
जहाँ इंसानियत ज़िंदा मिलती है ।

इंसानियत तो गरीब के भरोसे ज़िंदा है ।
अमिरो ने तो कत्ल कयी बार किया है इंसानियत का ।



khusiya to garib manate hai.
amir to sirf paise kamate hai.

paise ki chah mai tyohar tak kurbaan kar jate hai.
choti choti khusiya sai jindagi ko bada karte hai.

ye garib hai jindagi ko khulkar jeete hai.


खुशिया तो गरीब मनाते है ।
अमिर तो सिर्फ  पैसे कमाते है ।

पैसे कि चाह मे त्योहार भि कुर्बान कर जाते है ।
छोटी छोटी खुशियो से ज़िंदगी को बड़ा करते है ।

ये गरीब है ज़िंदगी को खुलकर जीते है ।


Image for बेबस जिंदगी शायरी रोटी पर शायरी मदद पर शायरी मत सता गरीब को गरीब रो देगा गरीबी शायरी Facebook गरीबी इमेज गरीबी पर अनमोल वचन अमीर शायरी गरीबी पर छोटी कविता बेरोजगारी हिंदी शायरी सजना शायरी Takdeer Shayari लाली शायरी गरीब की हाय शायरी गरीबी और भुखमरी पर कविता गरीब और अमीर की शायरी गरीब सुविचार Amiri Par Shayari गरीबी क्रांति और अपराध की जननी है Garib vs amir
Image for गरीब शायरी हिंदी

By Shivam Mishra