Gehrayi Shayari, gehra Shayari, Samundra Shayari, samundra Image

    समुन्दर मे जितनी गहराई  होती है ।

उतनी ही  गहराई शब्दो मे भि होती है ।


   समुन्दर तो यु ही बदनाम है ।

अशल मे तो लोग आँखों मे ड़ूब जाते है ।


समुन्दर की गहराई तो अासानी से नापी जा सकती है ।

इंसान की  गहराई का पता लगाना अशंभव है ।


Gehrayi Shayari, gehra Shayari, Samundra Shayari, samundra Image
Samundra Image, Paani Image
 

By Shivam Kumar Mishra