Posts

Showing posts from January, 2021

Dil, dhadkan, dhadak, dil Image

Image
बेचारा दिल । इश्क करे कोई और यारा । सितम सहे ये दिल बेचारा । ये है सबका । पर इसका ना कोई यारा । दिल आशिको के मेहफिल मे । सरेआम  निलाम होते है । हर शाम होते है । तोड़ दिये जाते है । मशल दिये जाते है ।  Dil Image   By Shivam Kumar Mishra

maa, mummy, mata, Lady Photo

Image
प्यार का अहसास जो कराये । जब हम इस दुनिया मे आये । मेरी माँ । जो हमे बोलना और चलना सिखाये । रात भर जागे । पर हमे सुलाये । पेहला अक्षर माँ  ज़िंदगी तुमसे माँ । हर खुशी तुमसे माँ ।  Lady Photo   By Shivam Kumar Mishra

Pyaar, Ishq, Ashiqi, Prem, Gulaab Image

Image
प्यार जो धाई अक्षर का शब्द है । वो प्यार क्यी रिश्तो पर अकेले भारी पड़ता है । क्यी बार तो ज़िंदगी और मौत पर भि भारी पड़ता है । प्यार की वेकसीन नहीं है । ये अगर एक बार हो जाये । तो ज़िंदगी को मौत बना देती है । और मौत को ज़िंदगी । प्यार के बिना हम अधूरे है । प्यार खुद ही अधूरा है तो हमे पूरा कैसे कर सकता है । हम कोई तस्वीर थोड़ी है जो अधूरे है ।  Gulaab Image   By Shivam Kumar  Mishra

Subh Prabhat, hua Sawera, jungle Image

Image
देखो देखो हुआ सवेरा । अंधेरे को रौशनी ने घेरा । चलो उठ जाओ । अब बहोत सो लिए । शुरू करो दिन चर्या । शुभ प्रभात । चाँद जा चुका है । सूरज आ चुका है । अब हमारी बारी है । जग चुकी ये दुनिया सारी है । शुभ प्रभात । Jungle Image   By Shivam Kumar Mishra

Subh Prabhat, Hua Sawera, sooraj Nikla, Sooraj Image

Image
कभि मूर्गे की कुकड़ू कु हमे उठाती थी । अब मोबाइल  की टींग टींग हमे सोने नहीं देती । फिर कब सुबह हो जाती है पता भि नहीं चलता । आवाज आती है कही से उठ जाओ  हुआ सवेरा । शुभ प्रभात । ये कोरोना ने लोगो को आलसी बना दिया है । सुबह उठ जाओ योगा को गले लगाओ । बिमारी को दूर भगाओ । तंदुरुस्त हो जाओ । हुआ सवेरा । शुभ प्रभात । Sooraj Image   By Shivam Kumar  Mishra

Subh Prabhat, Hua Sawera, sooraj Nikla, Sooraj Image

Image
आपके ज़िंदगी मे तभी सवेरा होगा । जब आप कुछ अलग करने की शुरुवात करेंगे । वरना सवेरा तो हर रोज ही होता है । पर उसमे कुछ खास नहीं होता । हुआ सवेरा । शुभ प्रभात । हो चुकी है सुबह । चाँद छूप चुका है । निकल चुका है सूरज । अब तुम भि बिस्तर से निकल जाओ । स्नान करो और दफतर जाओ । हुआ सवेरा । शुभ प्रभात ।  Sooraj Image   By Shivam  Kumar Mishra

Apologies Poem in English

Image
Apologies deep from your heart. It will provide you strength. It will protect your relation. very nice tradition. It washes away your guilt. Sometimes it makes your life tilt. Apologies with emotion. Make your own creation. Not only with words. With your feelings. It will heel your scar. Their will be no war. YOU will be not too far From your near&dear once. Regret Image   By Shivam Kumar Mishra

Santusht, Tript, Santusht Image

Image
जरूरी नहीं की तुम जो कहो  वो हो जाये । जरूरी नहीं सब कुछ इस दुनिया मे सच हो । जो तुम चाहो तुम्हे मिल जाये । क्यी बार नहीं मिलता जो मिलना चाहिये । जो मिला उसीमे संतुष्ट होना पड़ता है । खुश कोई नहीं इस दुनिया मे । सबको कुछ न कुछ की कमी है । संतुष्ट रहना सिख लिए तो खुश रहना भि सिख जाओगे । Santusht Image   By Shivam Kumar Mishra

Pyaar, Prem, Ishq, Dil, Preet, Premika Photo

Image
काश हम चेहरे की जगह । दिल देख पाते । तों प्यार को समझ पाते । हस्ते गाते हमेशा साथ निभाते । कभी किसी का दिल नहीं दुखाते । इश्क है एक पहेली । जिसमे बेवफा हर सहेली । वफा करके भि बेवफा कहलाये । कोई इसको समझ ना पाये । Premika Photo   By Shivam Kumar Mishra

Subh Prabhat, Hua Sawera, Sawera Photo

Image
कभि कभि सूरज को भि निकलने का मन नहीं करता । क्युकी उसे लोगो को देर तक सोता देख बहोत तकलीफ होती है   जल्दी उठ जाओ हुआ सवेरा । शुभ प्रभात । मैं रोज समय पे कार्य करू ताकी तुम्हे देरी ना हो जाये । तुम फिर भि देर करते हो । चाहे मैं कितनी भि सुबह निकल आओ । चाँद चला गया । निकला सूरज । अब तो उठ जाओ । शुभ प्रभात । Sawera Photo   By Shivam Kumar Mishra

Thokar, Mushkil, Takleef, Rukawaat, pahaad Pathar Image

Image
कदम कदम पे संभलना । सिख एे इंसान । ये दुनिया ठोकरो से भरी हुई है । संभल गये तो ठीक । वरना लक्ष्य बदलना पड़ सकता है । ठोकर से बच के चलना । इस ज़िंदगी मे अगर एक बार ठोकर लगने पे भि नहीं संभले । तो ज़िंदगी दुश्वार हो जायगी । Pahaad Pathar Image   By Shivam  Kumar Mishra

Jindagi Shayari, rangeen, Jeevan, Aasman

Image
ज़िंदगी इद्रधनुश की तरह रंगीन है । क्यी रंग दिखाती है । ज़िना सिखाती है । ज़िंदगी मे इतने रंग है । जितने इद्रधनुश मे भि नहीं है । इद्रधनुश के रंग हमे पसंद आते है । पर ज़िंदगी के रंग नहीं । ऐसा क्यू । ज़िंदगी तो बहोत बेरंगी है हमारी । पता नहीं इद्रधनुश क्या सोचकर किसी ने मेरा नाम रखा था ।  Rainbow Image   By Shivam Kumar Mishra

Junoon Shayari, Jajbaa, Jiddi

Image
अगर आप ज़िंदगी मे कुछ करना चाहते है और कर नहीं पा रहे । तों आपको खून की नहीं जुनून की ज़रुरत है । अगर ज़िंदगी मे जुनून ना हो । तो आपका खून भि पानी के समान है । अगर किसी चीज का जुनून हो ज़िंदगी मे । तो पूरी ज़िंदगी शुकून से बिताओगे ।  Junoon Shayari,   By Shivam  Kumar   Mishra

Khusi Shayari, Anand, Harsh, Sukh, Mushkurahat, Hasi, Dulha Dulhan Photo, Ladka ladki Image

Image
खुशी शायरी     हम तो खुशी के सौदागर है । साहब फिर ज़िंदगी गम के तक्त पर हमे बीठाये हुए है । कभि किसी के चेहरे पर खुशी ला क़र देखना । तुम्हारी ज़िंदगी मे खुशियो की सुनामी आ जायगी । कभी किसी को खुश करने के लिए । अपनी हसी कुर्बान करनी पड़ती है । Dulha Dulhan Photo, Ladka Ladki Image     By Shivam Kumar Mishra

Dard Shayari, Judayi, Tanhayi, Bichadna, Ladki Photo, Hasina Image

Image
जुदाई  शायरी     सालो से नहीं मिल पाया हु तुमसे । फिर भि तुम्हारा ख्याल पिछा ही नहीं छोड़ती । ख्यालो मे सही । मेरी ज़िंदगी मे आती तो हो । अपना चेहरा दिखाती तो हो । ख्यालो को लगता है हैक कर लिया है तुमने । कोई और ख्याल आता ही नहीं ।  Ladki Photo, Hasina Image   By Shivam Kumar Mishra

Mausam Shayari, Varsha, Hritu, Barsaat, Baarish, Baadal Image, aasmaan Photo

Image
मौसम शायरी   मौसम आज क्यू तुम कहर धा रही हो । किस बात का बदला लेना चाहती हो । मौसम भि बेवफाई झेल रहा है । कभी भि रो पड़ता है । मौसम भि अगर इंसान होता । तो आज निलाम होता । Baadal Image, Aasman Photo   By Shivam Kumar Mishra

Chand Shayari, Chandrama, Chandra, Chand Image, Chandni Raat Photo

Image
  चाँद  शायरी   बहुत दूर है । पास होके भि दूर हो । बहोत मजबूर हो । पास होके भि पास नहीं होते । हम चैन से सोकर भि नहीं सोते । चाँद कितना दूर है । पर हर रोज निकलता है । अपने हूर के साथ । क्युकी वो नहीं नशे मे चूर । गुमान को रखता सदा खुद से दूर । उसकी कोई मजबूरी नहीं जो रख सके हमको दूर । Chand Image, Chandni Raat Photo   By Shivam Kumar Mishra

Rajpoot Kavita, Maharana Pata, prithvi raaj Chauhan, Chetak, Hill Kila Rajthan Photo, Rajasthan Mahal Image

Image
राजपूत की तलवार      राजपूत की तलवार । जैसे शेर की दहाड़ । किसी से ना माने हार । जैसे वज्र का प्रहार । खून की नदिया बहाये । अपने राज्य की करे रक्षा । राजपूत सचे सपूत । महाराना प्रताप जिस्से कोई ना बनता शाना । वो महाराना । चेतक जैसा घातक । नहीं मिला आजतक । पृथ्वी राज चौहान भारत देश की शान ।  Hill Kila Rajasthan Photo, Rajasthan Mahal Image   By Shivam Kumar Mishra

Ganga, Paani, Jal, Dariya, Nadi, Nadi Image

Image
  गंगा  शायरी   गंगा खुद ही मैली होती जा रही है । हमारे पाप धोते धोते । माता गंगा कराह रही है । हमे छोड़कर जा रही है । वो दिन भि दूर नहीं । जब माता धरती से चली जायगी । जिसका पानी अमृत हुआ करता था । आज वो जल जेहेर बन चुका है । वो भि हमारी गलतियो ने । प्रदुशित किया है जल को । छिंन ना ले हमारे कल को । Nadi Image     By Shivam   Kumar Mishra

Prerna Shayari, Motivation, Inspirational, Inspiration, Ladki Photo

Image
Prerna Shayari In Hindi   खुद को कभी कम मत आको । तुम गगन चुमने मे सक्षम हो । जो सोचोगे वो कर पाओगे । जो सोचोगे वो बन पाओगे । सोचने के साथ साथ कोशिश भि करना । जरूर सफलता मिलेगी । सफल व्यकती कभी युही सफल नहीं होता । वो मेहनत को अपनी ज़िंदगी बना देता है ।  Ladki Photo   By Shivam Kumar Mishra

Ishq Shayari, Pyaar, Prem, Ladki Photo

Image
  इश्क  शायरी   तुम तो कब की ठंडी पड़ चुकी हो । एक हम है  जो तुम्हारे इश्क के खातिर । तुम्हे गरम करने मे लगे हुए है । क्या लगती हो अब भि तुम । बचपन से ज्यादा प्यारी । तो तुम पचपन मे लगती हो । तुम्हारा  रंग रुप देख कर । मै चौक गया । मै तो एक लड़की छोड़के गया था । छोटे बालो वाला लड़का कैसे बन गया । Ladki Photo   By Shivam Kumar Mishra

Jindagi Shayari, Jindagaani, Jeevan, ladka Image

Image
  ज़िंदगी शायरी   ज़िंदगी बड़ी जालिम है ।  कातिल भि बनाती है और जटिल भि । हम सब कातिल है यहाँ । अपनी ज़िंदगी का है गला घोट देते है । बहोत ज़िलिया दूसरों के सहारे । अब दूसरो को सहारा देने की बारी हमारी है । Ladka Image   By Shivam Kumar Mishra

Dhoomrapaan Shayari, Dhuaan, Dhua, Peena, Sigaar, Ladki Photo

Image
Dhoomrapaan Shayari in Hindi   दिल का हाल कहें तंबाकु वाला । मूह का हाल जो करे पान मसाला । रगर के खयनी मूह मे डाला । तंबाकु ने मार ही डाला । घर पे लटक जायेगा ताला । होस्पिटल का खर्च कौन उठायेगा काला । फैमिली का क्या होगा साला । केनसर ले जाएगा इन गंदा नाला । नशे का जाल तुने पाला । कैसे खुश रह पायेगा किस्मत वाला । अपनी किस्मत तुने काला कर डाला रे प्यारा लाला । Ladki Photo   By Shivam Kumar Mishra

Nasha Shayari, Lat Shayari, Boori Lat, madhosi, Sisha Image, Ladki Image

Image
Nasha Shayari In Hindi   नशा पैसे का हो । शराब का हो । या और किसी चीज का । इंसान को इस कदर मजबूर कर देती है  की वो उसे पाने के लिए । सारे हदे पार कर जाता है । हर कोई नशा का आदि है इस दुनिया मे । यहाँ तक की दादी को भि चाय का नशा है । ज़िंदगी मे नशा होना भि जरूरी है । सफलता का नशा करलो । ज़िंदगी सवर जायगी ।  Ladki Image, Sisha Image   By Shivam Kumar Mishra

Pyaar Shayari, Prem, Preet, pranay, priye, Ishq, Ashiqi, Premi Couple Image

Image
Pyaar Shayari In Hindi  किसी ने मुझसे कहाँ जिसे प्यार करते हो उसकी कोई तस्वीर हो तो दिखाना । मैने कहाँ उसकी तस्वीर की क्या जरुरत । जिसकी हस्ती मेरे दिल मे बस्ती हो । टूट के चाहा था उसे । जब इजहार किया तो पता चला । उसे टूटे हुए वस्तु बिलकुल भि पसंद नहीं । बहोत कुछ खो दिया प्यार मे । अब प्यार नहीं व्यापार करूँगा ।  Couple Image   By Shivam Kumar Mishra

Dar Shayari, Khauff, Bhay, Aatank, Tras, dara hua ladka, bhay Image, Khauff Images

Image
हम भूत से डरते है । Dar Shayari In Hindi,  पर सच तो ये है । हमे इंसान से डरना चाहिए । इंसान मौत से डरता है । क्या पता मौत भि इंसान से डरती हो । कही सनक्रमन ना हो जाये । भूत भि डर गया इंसानो से । आज कल वो भि खुद  को आईसोलेट कर रहा है ।  Bhay Image, Khauff Image   By Shivam Kumar Mishra

Sapne Shayari, Khwab, Swapan, khwab Photo

Image
सपने देख सकते हो । तों उसे पूरा भि कर सकते हो । सोच सकते हो । तो उसे हासिल भि कर सकते हो । बहोत सपने देख लिए तुमने । अब उसे सच करके दिखाओ । सपने के पिछे मत भागो । सपने खुद ब खुद पिछे आयेंगे । जब तुम्हारे ज़िंदगी मे मेहनत का साथ होगा । Khwab Photo   By Shivam Kumar Mishra

Phool Shayari, Suman, Kusum, Manjari, Prasun, Pushp, Phool Photo

Image
  फूलों पर शायरी     पूरी दुनिया मे फूल खिले है । पर मुझे उस फूल का इंतेजार है । जिसके खिलने से बगिया सवर जाये । फूल कितना भि खूबसूरत क्यू ना हो । कभी ना कभी उसकी खुसबू साथ छोड़ जाती है । कितने फूल है इस जहाँ पे । पर हमे वही फूल चाहिये होता है । जिस फूल पर किसी और का नाम लिखा हो ।  Phool Photo, Phool Shayari Image   By Shivam Kumar Mishra

Dost Shayari ,Bheet, Suhrad, Mitra, Sakha, Sahcha, Dost Image

Image
मेरे दोस्त । मेरे साथी । मेरे यार । जिनसे होती थी टकरार । उनसे ही है यारो का प्यार । वो पुरानी यादे । खुद को हम समझते थे सेहजादे  । वो कमिने यार । जो जान हमारे थे । दिन भर साथ रहना । वो खेल कुद । बहोत याद आते है । ये दोस्त ।       Dost Image, Dost Shayari Image   By Shivam Kumar Mishra

chand Shayari, Chanda, Chandra, Raat Image, Khubsurat Chand Photo

Image
चाँद की क्या मजाल । वो अपनी खूबसूरती पर इतराये । उसके जैसे कितने चाँद धरती पे खुले पड़े है । चाँद कैसे अपनी चांदनी को । सबके साथ बाट लेता है । मैं तो सपने मे भि अपनी रौशनी को ना बाटू  ।  Chand Image, Raat Photo, Khubsurat Chand Photo   By Shivam Kumar Mishra

Aayna, Darpan, Seesha, Aaraasee, Aayna Image, Darpan Shayarihayari, bulbula Photo

Image
लोग कहते है आयना कभी झूठ नहीं बोलता । पर सच तो ये है की ।  आयना आधा सच दिखाता है । जबसे फ़ोन मे सेल्फी कैमरा आगया है । तब से आयने की कोई कद्र नहीं करता । आयने के फेर मे मत फसना । ये झूठी दुनिया है जो दाये को बाया । और बाये को कब दाया कर दे पता भि नहीं चलता । आप अपनी ज़िंदगी जाया कर सकते है । Bulbula Photo, aayna Image       By ShivamKumar Mishra

Jindagi Shayari, Rail Shayari, safar Shayari, railgadi Image, rail Photo

Image
ज़िंदगी एक ऐसी रेल है  जिस सफर का मंजील । हम नहीं कोई और तय करता है । कितने मर जाते है इस रेल के सफर मे । क्यी बार मंजील पर लाश को तराशा जाता है । कम से कम सफर ध्यान से तय करना । ताकी मंजील तक सही सलामत पहुच पाओ । हादसे बहोत होते है आजकल । रेल युही नहीं बदनाम  है । क्यी बार हादसे गूमनाम है ।  Kumar Railgadi Image, Rail Photo   By Shivam  Kumar Mishra

Gumaan Shayari, Ghamand, Guroor, mat kar itna guroor

Image
जो कल गाव । आज वो सेहेर है । कल फिर से गाव होगा । जो शुरू हुआ उसका अंत भि होगा । हर पल एक नयी शुरुवात । चाहे दिन हो या रात । कभी गुमान मत करना । पैसा आज है कल ना होगा । गोरा रंग कभी भी काला हो जायगा । कभी भि पतले से मोटे हो सकते हो । कुछ भि कभी भि हो सकता है । सब कुछ खो सकता है ।  Gumaan Shayari Image,   By Shivam Kumar Mishra

umar Shayari, Aayu, | Vay | Avastha | Vayas | Jivankal | Umar Image

Image
तुम मिले भि तो । अब जा कर । जहाँ मिलना ना मिलना एक समान । होना ना होना एक समान । जैसे रेल एक बार छूट जाये । तो फिर उस रेल का टीकेट हो या ना हो । सब एक समान । तुम मिले भि तो उमर के उस पढाओ पर । जहाँ जागना सोना एक समान । पाना खोना एक समान ।  Umar Image, Umar Shayari Image   By Shivam Kumar  Mishra

Beta Shayari, Beti Shayari, Beta Beti Shayari, Beti Bachao, Beti Image

Image
लड़का और लड़की मे क्या फर्क है ?     सायद सिर्फ एक मात्रा का । एक बाग के दो फूल एक कुबूल । दुसरे को हम समझे भूल । क्यू फर्क करते हो बेटे और बेटी । ये दुनिया बेटी के बिना भि अधूरी है । कभी पूरी नहीं हो सकती ।  Beti Image           By Shivam Kumar Mishra