Subh Prabhat, Hua Sawera, sooraj Nikla, Sooraj Image

आपके ज़िंदगी मे तभी सवेरा होगा ।

जब आप कुछ अलग करने की शुरुवात करेंगे ।

वरना सवेरा तो हर रोज ही होता है ।

पर उसमे कुछ खास नहीं होता ।

हुआ सवेरा ।

शुभ प्रभात ।




हो चुकी है सुबह ।

चाँद छूप चुका है ।

निकल चुका है सूरज ।

अब तुम भि बिस्तर से निकल जाओ ।

स्नान करो और दफतर जाओ ।

हुआ सवेरा ।

शुभ प्रभात ।

Subh Prabhat, Hua Sawera, sooraj Nikla, Sooraj Image
 Sooraj Image
 

By Shivam  Kumar Mishra