bewafa, dhoka, bewafa sai wafa, adhoora ishq,

तेरे बातों में आ गयें ।

अपना सब कुछ हार गये ।

ज़िंदगी वार गये तुझपर ।

तेरे बातों मे अा गयें ।


आके ऐसा लगा जैसे ।

सब कुछ पालिया ।

हो गये दिवालिया ।


तुम्ने मेरे गम को चुराया था ।

मुझे जीना सिखाया था ।

दुनीया से भीड़ना भि ।

हक केलिये लड़ना भि ।


जैसे गयी तु मेरि ज़िंदगी से ।

सब तु अपने साथ ले गयी ।

मुझे कोरा कर गयी ।

सब कुछ भूला दिया ।

मुझे रूला दिया ।



By Shivam kumar Mishra

Post a Comment

0 Comments