bewafa, toota dil, bewafa sai wafa, dil image

दिल ने हमे डुबोया ।

मैने संजोये थे सपने ।

साथ छोड़ गये अपने ।

दिल ने डुबोदिया ।

ना जाने क्या खता थी मेरी ।


वफ़ा ना करके भि वफ़ा कर गये ।

तैरना आता था फिर भि हम डुब गये ।

इश्क एक दरीया ।

जिसमे सब डुब जाते है ।


बड़े बड़े महारथी तैर नहीं पाते ।

दिल का खेल हर कोई उसमे फेल ।

दिल फेक आशिक क्यी बार चले गये जेल ।

दुनिया एक मेला ज़िसमे हर कोई अकेला ।


bewafa, toota dil, bewafa sai wafa, dil image
dil Image
 

By Shivam Kumar Mishra