ishq, ashiqi, prem, mohabbat, ladki image

सुबह और हम तुम ।

हाथो मे हो हाथ तेरा ।

तुम निभाओ मेरा साथ ।

हर सुबह सुहानी होगी ।

अगर तुम मेरी ज़िंदगी मे रहोगी ।


सुबह का नास्ता और एक प्याली चाय ।

 साथ जिए हम ।

खुशिया और गम भि पिये हम ।

तुम हो तो हर सुबह सुहानी हो ।

ज़िंदगी रुवानी हो ।


ना सिर्फ जवानी ।

बुढ़ापे तक की कहानी हो ।


ishq, ashiqi, prem, mohabbat, ladki image
 ladki image
 

By Shivam Kumar Mishra