kismat, bhagya, vidhi, vidhan

  किस्मत कभी खराब नहीं होती ।

हम उसे खूद खराब कर लेते है ।



  किस्मत के लकिरो को हम ।

 मेहनत की स्याही से लिखते है ।



By Shivam Kumar Mishra