bharat vatan desh, hindi shayari

 

bharat vatan desh, hindi shayari

 

 

सबसे पेहले वतन है मेरा ।

 मन ना तन ना धन है मेरा ।

भारत से मै हू ।

भारतिय से है भारत ।

पूरे विश्व मे सबसे अलग है भारत ।

पेहले धरती माँ फिर मेरी माँ ।

पूरे हिंदुस्तानी की माता है ।

सत्य यही कहलाता है ।

bharat vatan desh, hindi shayari, tiranga image
 tiranga image


आर्यभट ने शुन्य दिया ।

पूरे विश्व मे ऊचा नाम किया ।


ऋषियो कि सौगात ।

आयूर्वेदा और योगा ने मिलकर काम किया ।

हर झख्म को मरहम दिया .


हम उस देश के वासी है जहाँ तिरंगा लेह राता है ।

कभी मत झुकना सिखाता है ।

भरत राजा  के नाम प़र इस देश का नाम भारत पड़ा ।

भगत सिंग कि सौगात कि भारत है आजाद ।

कितनो ने कुर्बानी दी ।

तब हमे आजादी मिली ।

गांधी नेहरूू अम्बेदकर पटेल का है ये देश ।

गंगा जहा प़र बेहती है ।

कभी मत रुकना कहती है ।

जय हिन्द ।

जय भारत ।

bharat vatan desh, hindi shayari, india gate image
 tiranga image

Shivam Kumar Mishra

Comments

Popular posts from this blog

[भगवान प्रेम शायरी] शिव पार्वती प्रेम शायरी हिंदी में [God love shayari ]shiv parvati love shayari in hindi

गंजा, Ganja Shayari, Bald, Baal

नींद की शायरी हिंदी में [ Sleeping Shayari ] in Hindi

[ भोजन ] पर शायरी [ Shayari on food ]

शिव जी शायरी Shiv Ji Shayari

Shiv Parvati Prem Shayari

[गुड मॉर्निंग मोटिवेशनल शायरी] हिंदी में [ Good Morning Motivational Shayari ] in Hindi

[पापा बेटी] शायरी [ Papa Beti ] shayari

शिव-पार्वती, Mahadev, Gauri, Shankar Shakti

corona ki dua, covid, dua pick